सफलता शायरी इन हिंदी – कामयाबी शायरी – संघर्ष शायरी इन हिंदी

सफलता शायरी इन हिंदी - कामयाबी शायरी - संघर्ष शायरी इन हिंदी

सफलता शायरी इन हिंदी – सफलता किसको अच्छी नहीं लगती हर व्यक्ति का सपना होता है कि वो अपनी ज़िन्दगी में खूब तरक्की करे, मेहनत करे और अपने सारे सपने पूरे कर सके। लोग सफल  होने के लिए दिन रात मेहनत करते है, ऐसे में जिनके हौसले बुलंद होते है वो एक न एक दिन कामयाबी की मंज़िल पर पहुंच जाते है। इसलिए आज इस पोस्ट में हम आपके लिए लाये है Safalta Par Shayari in Hindi, प्रेरणादायक हिन्दी शायरी, मोटिवेशनल स्टेटस इन हिंदी, कामयाबी शायरी इन हिंदी, सक्सेस शायरी इन हिंदी, सफलता पर जोरदार शायरी, सफलता पर 2 लाइन शायरी, कामयाबी की शायरी, सफलता पर स्टेटस, बेस्ट कामयाबी शायरी, सफलता पर बधाई सन्देश, जूनून भरी शायरी, संघर्ष शायरी इन हिंदी का चुनिंदा संग्रह तो चलिए स्टार्ट करते है।

Also Read :-

सफलता शायरी इन हिंदी

मिली जो मंजिल तो कारवां भी बड़ा लग रहा था,
वरना सफ़र में हर शख्स मुझे ठग रहा था,
यूँ ही नहीं पहुंचा हूँ आज मैं इस मुकाम पर,
जब सो रहा था ये ‘जग’ तब मैं ‘जग’ रहा था।
कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती,
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।
चार कदम चलकर ही थक जाता है,
और पंहुचना शीर्ष तक चाहता है,
तुझे धूल में पैरों को मलना होगा,
जो पानी है सफलता तो चलना होगा।
परिंदो को मिलेगी मंज़िल एक दिन,
ये फैले हुए उनके पर बोलते है,
और वही लोग रहते है खामोश अक्सर,
ज़माने में जिनके हुनर बोलते है!!
बेहतर से बेहतर कि तलाश करो,
मिल जाये नदी तो समंदर कि तलाश करो,
टूट जाता है शीशा पत्थर कि चोट से,
टूट जाये पत्थर ऐसा शीशा तलाश करो…

प्रेरणादायक हिन्दी शायरी

कामयाबी के सफ़र में मुश्किलें तो आएँगी ही
परेशानियाँ दिखाकर तुमको तो डराएंगी ही,
चलते रहना कि कदम रुकने ना पायें,
अरे मंजिल तो मंजिल ही है एक दिन तो आएगी ही।
रुकावटें आती है सफलता की राहों में ये कौन नहीं जानता,
फिर भी वह मंज़िल पा ही लेता है जो हार नहीं मानता।
संघर्ष में आदमी अकेला होता है,
सफलता में दुनिया उसके साथ होती है।
जिस-जिस पर ये जग हँसा है,
उसीने इतिहास रचा है…
चलता रहूँगा रास्ते पर,
चलने में माहिर बन जाऊंगा !!
या तो मुझे मंजिल मिल जाएगी,
या मैं अच्छा मुसाफ़िर बन जाऊंगा।

कामयाबी के लिए शायरी

परिंदो को मिलेगी मंज़िल एक दिन,
ये फैले हुए उनके पंख बोलते है,
और वही लोग रहते है खामोश अक्सर,
ज़माने में जिनके हुनर बोलते है।
लक्ष्य भी है, मंज़र भी है,
चुभता मुश्किलों का खंज़र भी है !!
प्यास भी है, आस भी है,
ख्वाबो का उलझा एहसास भी है।
तारों में अकेला चाँद जगमगाता है,
मुश्किलों में अकेला इंसान डगमगाता हैम,
काटों से घबराना मत मेरे दोस्त,
क्योंकि काटों में ही अकेला गुलाब मुस्कुराता है।
जो खैरात में मिलती कामयाबी,
तो हर शख्स कामयाब होता,
फिर कदर न होती किसी हुनर की,
और न ही कोई शख्स लाजवाब होता।
ज़िंदगी कि असली उड़ान बाकी है,
जिंदगी के कई इम्तेहान अभी बाकी है,
अभी तो नापी है मुट्ठी भर ज़मीन हमने,
अभी तो सारा आसमान बाकी है…

लाइफ चेंजिंग स्टेटस – कामयाबी शायरी

“लक्ष्य ना ओजल होने पाये।
कदम मिला के चल।
सफलता तेरे कदम छुएगी।
आज नही तो कल।।”
अगर टूटने लगे हौसला तो याद रखना,
बिना मेहनत किये तख्तो-ताज नहीं मिलते।
अंधेरों में भी अपनी मंज़िल ढूंढ लेते हैं,
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते,
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते,
हासिल उन्हे होती है सफलता….
जो वक्त और हालात पर रोया नहीं करते !
आज बादलों ने फिर साज़िश की,
जहाँ मेरा घर था वहीं बारिश की,
अगर आसमान को जिद है ,बिजलियाँ गिराने की
तो हमें भी ज़िद है ,वहि पर अपना घर बनाने की।

सफलता पर सुविचार

कामयाबी के सफ़र में मुश्किलें तो आएँगी ही,
परेशानियाँ दिखाकर तुमको तो डराएंगी ही,
चलते रहना कि कदम रुकने ना पायें,
अरे मौत से क्या डरना एक दिन तो आएगी ही।
सुबह बनने के लिए हर शाम को ढ़लना होता है,
बनने के लिए मोती बर्फ को पिघलना होता है,
हाथ पर हाथ धर कर ही बैठे मत रहो तुम,
सफलता पाने के लिए मंजिल हर इंसान को चलना होता है।
दिल की गहराई से काम करना पड़ता है,
यूँ ही नहीं मिलती कामयाबी किसी को,
मेहनत की आग में दिन रात जलना पड़ता है।
चमक रहा है सितारा आज ज़माने में मेरे नाम का,
मिल गया हैं नतीजा मुझे मेरे काम का,
किसी चीज की जरूरत न रही मुझे,
जबसे नशा चढ़ गया है मुझे सफलता के जाम का।
जो तूने कहा,
कर दिखायेगा रख यकीन !!
गरजे जब बादल,
तो बरसने में वक्त लगता है।

सफल लोगों के विचार

बेहतर से बेहतर कि तलाश करो,
मिल जाये नदी तो समंदर कि तलाश करो,
टूट जाता है शीशा पत्थर कि चोट से,
टूट जाये पत्थर ऐसा शीशा तलाश करो।
जिनमें अकेले चलने के हौसलें होते हैं,
एक दिन उनके पीछे ही काफ़िले होते हैं।
जब आपको निचे फेका जाये तो,
आप कितना ऊँचा उठते हो,
इसीमे आपकी सफलता है।
पलकों पे आँसुओं को कभी सजाना नहीं चाहिए,
हर ज़ख़्म भरने के लिए दवा नहीं चाहिए,
राहों को मंज़िलों से कभी दूर नहीं कर पाओगे,
मुश्किलों को देख कभी हार मान बैठ जाना नहीं चाहिए।
वो जो शोर मचाते हैं भीड़ में,
भीड़ ही बनकर रह जाते हैं,
वही पाते हैं जिंदगी में कामयाबी,
जो ख़ामोशी से अपना काम कर जाते हैं।

Safalta Par Shayari in Hindi

किसी की तमन्ना थी तो किसी की उम्मीदें जुड़ी थीं,
मेरी सफलता के लिए मेरी मेहनत बहुत कड़ी थी,
पहुँच कर मुकाम पर जो मुड़ कर देखा मैंने तो पाया कि,
मुझसे आगे निकलने को दुनिया तमाम खड़ी थी।
मंजिल पे जिन्हें जाना है,
तूफानों से डरा नहीं करते।
तूफानों से जो डरे,
मंजिल कभी पाया नहीं करते।
यूँ ही हर कदम पर मत लड़खड़ाओ,
सफलता पानी है तो संभल जाओ,
मत शोर करो अपने प्रयासों का,
ख़ामोशी से अपनी जिंदगी बदल जाओ।
मुझे जगाते रहना क्योंकि अपने सपनों को पाना है,
अपनी काबिलियत का करिश्मा इस जग को दिखाना है,
कामयाबी तो हासिल कर ही लूँगा एक दिन,
मुझे तो अपनी उँगलियों पर दुनिआ को नचाना है।
कश्ती डूब कर निकल सकती है,
शमा बुझ कर भी जल सकती है,
मायूस ना हो इरादे ना बदल,
किस्मत किसी भी वक़्त बदल सकती है।

सफलता पर बधाई सन्देश

ना पूछो कि मेरी मंजिल कहाँ है,
अभी तो सफर का इरादा किया है,
ना हारूंगा हौंसला उम्र भर,
ये मैंने किसी से नहीं खुद से वादा किया है।
मेहनत मेरी पहचान हैं,
खुदा मेरे साथ हैं,
मंजिल मेरी कामयाबी हैं,
उसे पाना मेरा काम हैं।
देखते हैं ये जिंदगी हमें कब तक भटकाएगी,
किसी दिन तो कोशिशें हमारी रंग लाएंगी,
उस रोज हम आराम से बैठेंगे अपने कमरे में,
और कामयाबी बाहर खड़ी दरवाजा खटखटाएगी।
शाम सूरज को ढलना सिखाती है,
शमा परवाने को जलना सिखाती है,
गिरने वालों को तकलीफ़ तो होती है,
पर ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है।
कुछ लोग पैर होते हुए भी,
जिन्दगी के रेस में दौड़ नहीं पाते है,
कुछ लोग बिना पैरों के भी,
आसमान में उड़ कर दिखाते है।

जीवन बदलने वाली शायरी

यूँ ही नहीं मिलता कोई मुकाम,
उन्हें पाने के लिए चलना पड़ता हैं,
इतना आसान नहीं होता कामयाबी का मिलना,
उसके लिए किस्मत से भी लड़ना पड़ता हैं।
हर दर्द की एक पहचान होती हैं,
ख़ुशी चंद लम्हों की मेहमान होती हैं,
वही बदलते हैं रूख हवाओं का,
जिनके इरादों में जान होती हैं।
कैसा डर है जो दिन निकल गया,
अभी तो पूरी रात बाकी है,
यूँ ही नहीं हिम्मत हार सकता मैं,
अभी तो कामयाबी से मुलाकात बाकी है।
खोटा सिक्का जो समझते थे मुझे,
आज मैं उनका ध्यान तोड़ आया हूँ,
जिंदगी की राहों में सफ़र लम्बा था मेरा,
इसलिए क़दमों के निशान छोड़ आया हूँ।
अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो,
तो परिश्रम की आग में तपने से क्यों घबराते हो।

सफलता शायरी इन हिंदी – कामयाबी शायरी – संघर्ष शायरी इन हिंदी पढ़ने के लिए धन्यवाद्, अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगी तो इसको व्हाट्सप्प फेसबुक आदि पर शेयर जरूर कर दे। और साथ ही साथ नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताये की आपको हमारे ये पोस्ट कैसी लगी।

1 Comment

  • Bahut accha
    Sach me isase acchi shayri mujhe isase pAhle kahi nahi mili
    Thanks

    👌👌👌👌👌👌👌

Leave a Comment